शुक्रवार, 28 नवंबर 2008

ये है ब्लॉग पर लाइव कवरेज

२६ नवंबर रात ११ बजे ---

टीवी पर ब्रेकिंग न्यूज -
मुंबई में.. मुंबई में आतंकवादी घुस गये हैं... कहां से... .समुद्री रास्ते से... देखिये विस्फोट हुआ।

अखबार का दफ्तर -
धत तरे कि. ... अरे यार वो वाला चैनल लगाओ सबसे तेज...
देखो गोलियां चलीं।

पुलिस कमिश्नर का बयान - हम आतंकवादियों पर काबू पा लेंगे। पूरी पुलिस फोसॆ लगी है....

तेज चैनल -

लाइव कवरेज .... हो रहा है.. घटनास्थल से मैं फलां,,.... फलां... फलां...


दशॆक -
अरे तीन लोग मारे गये....

कौन-कौन.... पुलिस अधिकारी हैं.... क्या? ..... बाप रे ये क्या हो गया.....

पाटिल कहां...... कौन पाटिल..... गृह मंत्री शिवराज पाटिल.....

नजर नहीं आ रहे .... चलो यार दूसरा चैनल लगाओ.....

संवाददाता........भाई साहब क्या हो रहा है.... आप कैसे बचे... टीवी कैमरा फोकस करो....
धांय.... धांय... .चारों ओर से गोलियां चल रही हैं, कुछ बताना मुश्किल है....

२७ नवंबर ----

सेना बुलायी गयी है.... .कमांडो..... लगाये गये हैं.....

धांय-धांय...

अब ये आतंकी नहीं बचेंगे....

क्या लाशें मिल रही हैं.... क्या-क्या.. .कैसे.... ये तो नरसंहार है....

देर शाम.. अखबार का दफ्तर...... तीन सौ से ज्यादा घायल हुए, १०० से ज्यादा मरे.... चलो यही हेडिंग ठीक रहेगा... चलो...

कल टेंशन खत्म हो जायेगा...

२८. नवंबर...

मैं ताज से फलां... फलां....

ये लाइव कवरेज..... देखिये थोड़ा झुक जाइये, आपको गोली लगेगी।( और वे जो लड़ रहे हैं, उन्हें नहीं)
फिर शाम तक ...आतंकवादी मार दिये जाते हैं.....

नारेबाजी करती भीड़..... भारत माता की जय.... वंदे मातरम....

अखबार का दफ्तर -

बाप रे बड़ी टेंशन हो गया... कल से नॉमॆल रहेगा...


चैनल पर न्यूज -

पाकिस्तान से जरदारी ... हमारा आतंकवादियों से कोई संबंध नहीं....
भारतीय .... हमारा है, वे हमें मारने आये थे, हमने उन्हें मार दिया.....

9 टिप्‍पणियां:

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा ने कहा…

दमदार नेता देश में न होने के कारण हजारो बेगुनाह लोगो की जाने जा रही है अब समय आ गया है कि इनसे निपटने एक जल्दी कार्य योजना बनाई जाए . नेताओ की करनी और कथनी में अन्तर है और इसका खामियाजा देश की जनता को भुगतना पड़ रहे है .

Arvind Mishra ने कहा…

यह समय है कश्मीरी आतंकी ट्रेनिंग कैम्पों पर बिना समय गवाए पूरी शक्ति के साथ सैन्य कार्यवाही का ! एक मुक्तिवाहनी सेना के हस्तक्षेप की !

seema gupta ने कहा…

" सच कहा बेहद शर्मनाक और दर्दनाक है.., सभी शहीदों को श्रधान्जली

Monika ने कहा…

“प्रेरणा शहीदों से हम अगर नहीं लेंगे
आजादी ढलती हुई साँझ बन जाएगी
यदि वीरों की पूजा हम नहीं करेंगे
सच मानो वीरता बाँझ बन जाएगी “
देश के लिए शहीद होने वालों को मेरा नमन

मोनिका दुबे (भट्ट)

We hate Pakistan ने कहा…

जिहाद के नाम पर ये फैलाता है जूनून

मासूमों का खून बहाकर पाक को सुकून


आप भी, अपना आक्रोश व्यक्त करे


http://wehatepakistan.blogspot.com/

Suresh Chiplunkar ने कहा…

मैं अपील करता हूं कि देशद्रोही चैनलों का बहिष्कार किया जाये, मैंने प्रण किया है कि ये तथाकथित न्यूज चैनल नहीं देखूंगा ,सिर्फ़ प्रिंट मीडिया से ही जानकारी लूंगा… आप भी ऐसा ही कीजिये…

मिहिरभोज ने कहा…

एक सीन...देखिये मैं सबसे तेज चैनल से यहां गोली वारी के बीच सबसे आगे(कैमरा फोकस ...ये साहब लेटे हुए हैं सङक पर ...मीडिया की तरफ भी चली गोली......टीवी पर पट्टी चल रहीं है)..सामने कुछ कदम दूर दो आदमी अचानक से कैमरे पर सिगरैट पीते हुए चहल कदमी दिखते हैं...कैमरा हटा कर वापिस क्लोज अप संबाददाता पर

अल्पना वर्मा ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
अल्पना वर्मा ने कहा…

aap ne lekh mein ant mein karaara vyangya kiya hai jo is trah ki mansikta wale channels ke liye sahi hai.

-देश के लिए शहीद होने वालों को मेरा नमन है.


@Suresh ji -hum to TV channels ke bharosey hi hain-un key bina humen bharat ki koi bhi taaza jaankari seedhi nahin mil sakti---sirf 'Zee-Star-Aaj tak aur NDTV '
ye hi dekh paatey hain aur NDTV sab sey achcha aur samjhdaar tv channel [unbiased] lagta hai.