शनिवार, 6 दिसंबर 2008

इनके लिए फोटोग्राफी शौक नहीं जुनून है

फूल खिलते हैं कभी-कभी

देखो ये चांद निकल आया


संजय बोस हमारे बचपन के मित्र हैं। इनके लिए फोटोग्राफी शौक नहीं जुनून है। अपने कैमरों से प्रकृति की हर छटा को कैद करने की चाहत में कुछ अलग सा फोटो हमारे सामने आये हैं। उन्हें आपके साथ बांटने का मन करता है।



रांची के टैगोर हिल की एक शाम

4 टिप्‍पणियां:

Anil ने कहा…

बहुत खूब! एक नज़र यहाँ भी मार लें! आपका बहुत आभार होगा यदि आपके मित्र हमारे चिट्ठे पर भी तसवीरें पोस्ट करें!

mehek ने कहा…

bahut sundar tasveerein hai sari,khas kar tagore hillwali badhai

विनीता यशस्वी ने कहा…

behatreen photo hai.

अशोक मधुप ने कहा…

बहुत बढि़या फोटो।बधाई